पास आओ और चूत चुदवाओ

Paas aao aur chut chudwao:

indian sex stories

मेरा नाम राघव है और मैं एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर की पोस्ट पर हूं। मेरी उम्र 30 वर्ष है और मैं नोएडा का रहने वाला हूं। एक बार जब मैं घर में था तो मेरे पिताजी ने मुझे कहा कि बेटा तुम्हारे दादी की तबीयत खराब है तो तुम उन्हें दिखा लाओ। मैंने उन्हें कहा कि मैं दादी को अपने साथ ही ले जाता हूं। वह गांव में क्या करेंगे। दादी कहने लगी कि मैं गांव में ही ठीक हूं। मैंने उन्हें कितनी बार कहा लेकिन वह आती ही नहीं है। उन्हें यहां बिल्कुल भी पसंद नहीं है उन्हें गांव में रहना ही अच्छा लगता है। मैंने कहा चलो मैं समय निकाल कर उन्हें ले आता हूं और मैं गांव चला जाऊंगा। अब मैं अपनी दादी को गांव लेने के लिए चला गया। जब मैं गांव पहुंचा तो मैंने देखा मेरी दादी की तबीयत वाकई में बहुत खराब है। मैंने अपनी दादी से कहा कि तुम हमारे साथ शहर चलो। हम तुम्हारा वहीं पर इलाज करवा देंगे। वह मना कर रही थी लेकिन मैं उन्हें जबरदस्ती अपने साथ ले आया और वह मेरे साथ कार में ही थी। वह पीछे वाली सीट में बैठी हुई थी और थोड़ी देर बाद उन्हें नींद आ गई तो वह सो गई। मैं कार ड्राइव कर रहा था और हल्की आवाज में मैंने गाने प्ले कर रखे थे। सफर धीरे धीरे कटता जा रहा था और पता भी नहीं चल रहा था। तभी आगे से एक लड़की ने हाथ दिया। मैंने पहले सोचा कि अभी हाईवे में गाड़ी बहुत तेज है रोकना बेकार है इसलिए मैं आगे की तरफ निकलने की सोच रहा था। पर फिर मुझे लगा कि शायद उसको जरूरत हो तो मैं गाड़ी रोक देता हूं। मैंने गाड़ी रोक दी तो वह मेरे साथ बैठ गई।

वह मेरे साथ आगे वाली सीट में ही बैठी हुई थी। अब मैं उसे देखे जा रहा था वह भी मेरी तरफ देखने पर लगी हुई थी। थोड़ी देर बाद उसने ही मुझसे बात की और कहने लगी कि आप अभी कहां से आ रहे हैं। मैंने उसे बताया कि मेरी दादी की तबीयत थोड़ा खराब है मैं उन्हें गांव से लेकर अपने घर जा रहा हूं। वह मुझसे कहने लगी कि आपकी दादी आपके साथ नहीं रहती। मैंने उसे कहा कि उन्हें गांव में ही अच्छा लगता है इसलिए वह गांव में ही रहती हैं। हमारे साथ उन्हें बिल्कुल भी पसंद नहीं है। यह बात सुनकर वह मुझसे कहने लगी आपने बहुत अच्छा काम किया जो अपनी दादी को अपने साथ ही ले आए। अब मैंने उससे पूछा की तुम यहां क्या कर रही हो। तुमने मुझे हाईवे के बीच में हाथ दिखाया। तो वह कहने लगी कि मैं भी अपने गांव आई थी। मुझे यहां से जाने के लिए कुछ भी कन्वेंस नहीं मिल रहा था इस वजह से मैं यहां से लिफ्ट मांग रही थी लेकिन कोई लिफ्ट दे ही नहीं रहा था। तुमने मुझे देखकर गाड़ी रोक ली तो मैं तुम्हारे साथ ही बैठ गई। अब वह मुझसे पूछने लगी कि तुम क्या करते हो। मैंने उसे बताया कि मैं एक कंपनी में मैनेजर के पद पर हूं और मैं नोएडा में रहता हूं।

वह मुझे कहने लगी कि मैं भी तो नोएडा में ही रहती हूं। अब उससे मुझसे पूछा कि तुम्हारा घर कहां पर है। मैंने भी उसे बता दिया नोएडा में मेरा घर कहां पर है। वह कहने लगी कि आपके पड़ोस में ही गुलाटी जी रहते हैं। मैंने उसे कहा कि हां, वह मेरे पिता जी को बहुत ही अच्छे से जानते हैं। वह कहने लगी कि वह मेरे मामा हैं और मैं अक्सर वहां पर आती जाती रहती हूं। यह बात सुनकर तो मैं बहुत ही खुश हो गया और उससे मैंने उसका नंबर ले लिया। मैंने अभी तक उसका नाम नहीं पूछा था। जब मैं नंबर सेव कर रहा था तो मैंने उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम मुझे बता दिया। उसका नाम रागिनी था। अब हम लोग नोएडा पहुंच गए तो मैंने उसे उसके घर तक ही छोड़ दिया। वह मुझे कहने लगी कि आप कुछ देर घर में बैठ जाए। उसके बाद चले जाना। मैंने उसे कहा कि अभी मेरे साथ दादी है। इसलिए मैं नहीं बैठ सकता। फिर किसी दिन आऊंगा। आपका नंबर भी मेरे पास है तो हम लोग कांटेक्ट में रहेंगे। अब मैं उसे छोड़ते हुए अपने घर की तरफ चला गया है। जब मैं अपने घर पहुंचा तो मेरे पिताजी ने दादी को देखा और कहने लगे कि इनकी तबीयत तो वाकई में बहुत ज्यादा खराब है। तुम इन्हें डॉक्टर के पास ले चलो और मेरे पिताजी भी मेरे साथ हॉस्पिटल चले आये और हमने अपनी दादी को वहीं पर एडमिट करवा दिया। कुछ दिनों बाद हम उन्हें घर पर ले आए। एक दिन मैंने अपने मोबाइल में देखा तो रागिनी ने मुझे कॉल की हुई थी लेकिन मैं उसका फोन उठा नहीं पाया। मैंने उसे कॉल बैक किया तो वह कहने लगी कि मैंने तुम्हें कुछ दिनों पहले फोन किया था। मैंने उसे कहा कि बीच में मैं कुछ ज्यादा ही बिजी हो गया था। ऑफिस से आने के बाद सीधा हॉस्पिटल चले जाता था। इस वजह से मैं तुम्हारा फोन नहीं उठा पाया। अब हमारी फोन पर ही बात हो जाती थी।

ऐसे ही मेरी जिंदगी चलती जा रही थी मैं सुबह अपने ऑफिस जाता हूं और आते समय हॉस्पिटल चला जाता। मैं जब हॉस्पिटल से वापस लौट रहा था तो मुझे रागिनी मिल गई और मुझसे पूछने लगी तुम कहां से आ रहे हो। मैंने उसे बताया कि मैं हॉस्पिटल से वापस लौट रहा हूं। वह मुझे कहने लगी कि तुम मुझे मेरे घर तक छोड़ सकते हो। मैंने उसे कहा ठीक है मैं तुम्हें तुम्हारे घर तक छोड़ देता हूं। अब वह मेरे साथ मेरी कार में बैठ गई और मैंने उस दिन उसके जांघों पर अपना हाथ रख दिया और वह उत्तेजित होकर मेरे लंड को पकड़ने लगी। जैसे ही उसने मेरे लंड को पकड़ा तो मुझे बहुत मजा आया और उसने अब मेरे लंड को हिलाते हुए बाहर निकाल लिया। मैं गाड़ी चला रहा था और वह उसे हिलाए जा रही थी। थोड़ी देर बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर ही ले लिया और मेरी उत्तेजना बहुत बढ़ गई। वह उसे बहुत अच्छे से सकिंग कर रही थी और मुझे बहुत मजा आ रहा था। अब उसका घर आ गया और हम लोग उसके घर में चले गए। उस दिन उसके घर में कोई भी नहीं था मैं जैसे ही उसके बेडरूम में गया तो मैंने तुरंत उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसे नंगा कर दिया। उसकी चूत मे एक भी बाल नहीं था और मैंने उसे चाटना शुरू किया। जब उसकी चूत पूरी गीली हो गई तो मैंने तुरंत ही अपने लंड को अंदर धक्का मारते हुए डाल दिया। उसकी योनि बहुत ज्यादा टाइट थी और मुझे बहुत मजा आया जब मैंने उसकी चूत मे धक्का मारा। वह बड़ी तेज आवाज में चिल्ला रही थी। उसके गले से आवाज निकल रही थी और मुझे ऐसा महसूस हो रहा था कि उसकी चूत से खून निकल रहा है।

मैंने जब देखा तो उसकी चूत से खून निकल रहा था और मुझे बहुत ही मजा आ रहा था। मैं उसके दोनों पैरो को खोलते हुए उसकी चूत मार रहा था और वह भी बहुत ज्यादा खुश थी। वह मुझे कह रही थी तुम्हारा लंड अपनी चूत मे ले कर मुझे बहुत मजा आ रहा है। उसकी कुछ ज्यादा ही टाइट चूत थी और जब मैं उसके स्तन देख रहा था तो मेरी उत्तेजना और ज्यादा बढ़ जाती। अब मैंने उसके स्तनों को अपने मुंह में ले लिया और मुझे बड़ा मजा आ रहा था। मैं उसके स्तन को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और उससे भी मजा आ रहा था। वह पूरे मूड में आ गई और अब वह अपने मुंह से बड़ी मादक आवाज निकालने लगी। अब मेरे अंदर की उत्तेजना भी और ज्यादा बढ़ गई मुझे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं हुआ। मैंने उसके पैरों को खोलते हुए उसे धक्का मारना शुरू कर दिया। मैं तेजी से उसे झटके दिए जा रहा था और उसके मुंह से आवाज निकलने लगी। लेकिन उसकी कुछ ज्यादा ही टाइट चूत थी जिसे मैं बर्दाश्त नहीं कर पाया। मेरा वीर्य मेरे लंड के ऊपर तक आ गया। मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए हिलाना शुरु किया और थोड़ी देर बाद मेरा वीर्य बड़ी तेजी से उसके स्तनों पर गिर गया। वह मुझे कहने लगी कि तुम्हारा माल तो कुछ ज्यादा ही गाढा है मुझे बहुत ही मजा आया तुम्हारा लंड को अपनी योनि में लेकर। अब उसने अपने स्तनों को साफ करते हुए मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और उसे अच्छे से सकिंग करने लगी और बहुत ही प्यार से वह सकिंग कर रही थी मुझे बड़ा आनंद आ रहा था।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


chut ki chudaibur chodne ki photogandi chudai ki storysexy kahani mamiwww chudai com inswamiji sex storiesbhabhi ki jawaniladkiyon ki chutअनजानी भूल चुद बैठीmaa ke chut me lund se sindoor laga kar maa ko khub choda kahanichut chut landmom ki chut phadihindi sex stories 2ठंड मे चुत मारा कहानीbur ki khujlikuvari chudaisexy chut and landmaa ki chut ki kahaniantarvasna hindi mesexy hindi story in pdfladki ladki chudaibur aur landstory maa ko chodabiwi ki phudi marimarathi sexy kahanilund chut ki kahani in hindigf ki behan ki chudaipita ne chodabihari ne chodawww sexy hindi story comबेईज्जती का बदला चुतsex untyxxx hindi chudaigaand maaribehan aur maa ki chudaisavita chudaiiss indian sex storiesAntim vasna porn bookchudai ki stories in hindi fontwww indian sex storiesbaccho ka sexshalini sexbabu ki chutchudai chudai kahaniblue picture hindi maisexy story bahan ki chudaiporn bhabhi ki chudaiआकांक्षा की चुदाईdesi gandi photomaa beta ki chudai ki kahanichut chutaibhojpuri chudai storyantarvasna bhabhi ki chudaiOldchudaikahanimarathi fuck kathamausi ki chudai storyhindi group sex kahanilund chut ki ladaibehan ko choda story in hinditrain me bhabhi ki gand maribus mai chodapadosan ki ladki ki chudaiantarvasna sax storychoot chatirenu chutlund se chodahindi chudachudichoot ka landchudai katha in hindibhabhi ki chodaewww kamukata comchudai ki kahani apni zubanibua ki beti ko chodahinde hijada ki gaand faadi sex storis hindeblackmail karke chudai